Lyrics : Haye Teri Rumala Gulabi Mukhadi-Kumaoni Song | हाई तेरी रुमाला गुलाबी मुखड़ी।

Admin

कुमाऊंनी परिधान में उत्तराखण्ड की एक महिला  | फोटो साभार : गूगल।

उत्तराखण्ड के महान गायक स्व० गोपाल बाबू गोस्वामी जी का एक सुपरहिट गीत है ‘हाई तेरी रुमाला, गुलाबी मुखड़ी, के भली छाजि रै नाक की नथुली।’ जो वर्षों से आज भी लोगों के मन पसंद गीतों की कतार में सर्वोपरि है। नौजवान हों या बूढ़े, हर आयुवर्ग के श्रोता इस गीत को सुनते हैं। श्रृंगार रस से परिपूर्ण इस गीत में नायक अपनी नायिका के सुन्दर रूप, आभूषण और वेशभूषा को इंगित करते हुए कहता है – 

हाई तेरी रुमाला गुलाबी मुखड़ी,
के भली छाजि रै नाक की नथुली।
तेरी के भली छजी रे नाक की नथुली।
हाई तेरी रुमाला….

गवें गुलोबन्दा हाथूं की धागुली,
चमा चमा चमकी रै कपाई की बिंदुली।
ओ चमा चमा चमकीरे कपाई बिंदुली।
हाई तेरी रुमाला….

सनीले घाघरी, मख़मली आँगड़ी,
सनीले घाघरी, मख़मली आँगड़ी,
क़े भली छाजी रै रंगीली पिछौड़ी।
हाई तेरी रुमाला….

 

तेरी गवें जंजीरा, हाथों में पौंछिया,
तेरी गवें जंजीरा, हाथों में पौंछिया,
छण-छण छणकनी कलाई चुड़ियां। 

हाई तेरी रुमाला, गुलाबी मुखड़ी,
के भली छाजि रै नाक की नथुली।
तेरी के भली छाजि रे नाक की नथुली।
हाई तेरी रुमाला….

स्वर्गीय गोपाल बाबू गोस्वामी जी द्वारा गाये इस सुपरहिट गीत को यहाँ सुनिए-

पूरा लेख पढ़ने के लिए कृपया उपरोक्त शीर्षक पर टैप करें या https://www.eKumaon.com पर जाएँ।

Leave a comment

साक्षी और महेंद्र सिंह धोनी पहुंचे अपने पैतृक गांव उत्तराखंड। शिवलिंग पूजा – क्या आप जानते हैं कहाँ से शुरू हुई लिंग पूजा ? नॉनवेज से भी ज्यादा ताकत देती है ये सब्जी ! दो रात में असर।